गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

सुरंग से निकाले गए सभी 41 श्रमिक पूरी तरह स्वस्थ

देहरादून : उत्तराखंड में उत्तरकाशी जिले की निर्माणाधीन सिलक्यारा टनल से 17 दिन बाद सुरक्षित निकाले गए सभी 41 श्रमिकों में से एक को छोड़कर अन्य सभी को ऋषिकेश स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में सभी सघन स्वास्थ्य जांच के बाद अस्पताल प्रशासन की ओर से घर जाने की इजाजत दे दी गयी है।
गुरुवार को जारी हेल्थ बुलेटिन में डॉक्टर नरेन्द्र कुमार ने बताया कि सिलक्यारा सुरंग से निकाले गए सभी 41 श्रमिकों को बुधवार दोपहर एम्स में भर्ती किया गया था। प्रारंभिक जांच के बाद इनमें से किसी भी श्रमिक में चोट आदि जैसे कोई शिकायत नहीं पाई गई, लिहाजा सभी का चिकित्सीय जांच के लिए इन सभी का सघन स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। साथ ही उनके टेस्ट जैसे ब्लड, किडनी, ईसीजी, एबीजी,लीवर फंक्शन टेस्ट, एक्सरे, ईको कॉर्डियोग्राफी, एबीजी आदि परीक्षण किए गए। यह सभी श्रमिक शारिरिक तौर पर सामान्य हैं।उन्होंने बताया कि सभी श्रमिक अपने-अपने घरों को वापस जा सकते हैं।
डा नरेंद्र ने बताया कि उच्च हिमालयी क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों में जो शारीरिक परिवर्तन आते हैं, वही इनमें पाए गए हैं, बाकि गंभीर अथवा चिंताजनक जैसी कोई समस्या नहीं है। लिहाजा हमारी ओर से किसी भी पेशेंट को रोका नहीं जा रहा है। संबंधित राज्यों को आधिकारिक तौर पर यह जानकारी दे दी गई है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में इस घटना के बाद से कुछ मरीजों में मानसिक परेशानी हो सकती हैं, उनके लिए इन श्रमिकों को दो सप्ताह के बाद अथवा जरुरत पड़ने पर अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक से सलाह लेने को कहा गया है।
डॉ. नरेंद्र ने बताया कि हमारे पास सात राज्यों से 41 श्रमिक स्वास्थ्य जांच के लिए आए। इनमें सर्वाधिक झारखंड, उत्तरप्रदेश और बिहार से हैं। उन्होंने बताया कि एक मरीज को छोड़ अन्य सभी 40 श्रमिकों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। जिसमें से अधिकांश मरीज शाम चार बजे तक अपने घरों की ओर लौट चुके हैं। अस्पताल में भर्ती रखे गए एक श्रमिक को भी अन्य जरूरी परीक्षण के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

Leave a Reply