गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

अरुणाचल प्रदेश के स्थानों के चीनी नामकरण मूर्खतापूर्ण

नई दिल्ली : भारत ने चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश में स्थानों का नाम बदले जाने को ‘मनगढ़ंत’ एवं मूर्खतापूर्ण हरकत’ करार दिया है और कहा है कि इससे यह हकीकत नहीं बदलेगी कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अविभाज्य अंग है और हमेशा रहेगा।
चीन सरकार के इस कदम के बारे में यहां मीडिया के सवालों के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने कहा, “चीन, भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश में स्थानों का नाम बदलने के अपने मूर्खतापूर्ण प्रयासों पर कायम है। हम इस तरह के प्रयासों को दृढ़ता से अस्वीकार करते हैं।”
प्रवक्ता ने कहा, “मनगढ़ंत नाम निर्दिष्ट करने से यह वास्तविकता नहीं बदलेगी कि अरुणाचल प्रदेश भारत का एक अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है और हमेशा रहेगा।” उल्लेखनीय है कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश को ‘जंगनान’ नाम दिया है और इसे दक्षिण तिब्बत के हिस्से के रूप में इस राज्य पर अपना दावा करता है।

कल उसने राज्य के 30 विभिन्न स्थानों के नए चीनी नामों की चौथी सूची जारी की है। चीनी नागरिक मामलों के मंत्रालय ने सबसे पहले 2017 में अरुणाचल प्रदेश के छह स्थानों के ‘‘मानकीकृत नामों’’ की पहली सूची जारी की थी, जबकि 15 स्थानों की दूसरी सूची 2021 में जारी की गई थी। इसके बाद 2023 में 11 स्थानों के नामों के साथ तीसरी सूची जारी की गई थी।

Leave a Reply