गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

द्रमुक सांसद ने हिंदी भाषी राज्यों को ‘गोमूत्र राज्य’ कहा

नई दिल्ली : लोकसभा में द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के सांसद सेंथिल कुमार ने हिंदी भाषी राज्यों को ‘गोमूत्र राज्य’ करार दिया जिस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तीखा हमला किया और ‘इंडिया’ गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस रक्षात्मक रुख अपनाने को मजबूर कर दिया। सदन में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान सेंथिल कुमार ने कहा, भाजपा की मुख्य ताकत हिंदी पट्टी के राज्यों में चुनाव जीतने की है। उन राज्यों को हम ‘गोमूत्र राज्य’ कहते हैं। आप दक्षिण भारत में नहीं आ सकते हैं।
उन्होंने तीन राज्यों में भाजपा की प्रचंड जीत पर कटाक्ष करते हुए यह बयान दिया है। इस पर भारतीय जनता पार्टी सांसदों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा,“ तीन राज्य की जनता ने भाजपा को वोट दिया है और उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भरोसा है। जो लोग ऐसे बयान देते हैं ये उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाता है। ऐसे लोग प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता से ईर्ष्या करते हैं।”
उन्होंने कहा कि भाजपा की स्वीकार्यता पूरे देश में है। कर्नाटक में भाजपा सरकार में रही है और पुड्डुचेरी में भाजपा सत्ता में है। जो भी इस तरह का बयान देता है उसे अपने ज्ञान को बढ़ाने की जरूरत है। भाजपा ने कहा कि यह बयान कांग्रेस के इशारे पर दिया गया है। यह देश गौ, गंगा और गीता का अपमान नहीं सहेगा।
वहीं कांग्रेस ने द्रमुक सांसद से पल्ला झाड़ लिया। कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हम सभी की गौ माता में आस्था है। हमारा द्रमुक सांसद के बयान से कांग्रेस का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्तिगत तौर पर सदन में कुछ कहता है तो इसके बारे में उससे पूछा जाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि इससे पहले द्रमुक के नेता एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन के पुत्र उदयनिधि ने सनातन धर्म के विनाश करने की बात कही थी।

Leave a Reply