गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

राजस्व निरीक्षक समेत पांच के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा

जौनपुर : उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले की केराकत कोतवाली पुलिस ने भूमि के रजिस्टर्ड वसीयत व वरासत के पारिवारिक मामले में अदालत के आदेश पर आज धोखाधड़ी के आरोपित राजस्व निरीक्षक, दो लेखपालों समेत पांच के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।
पुलिस के अनुसार जिले में केराकत कोतवाली क्षेत्र के मल्लूपुर निवासी हरी लाल ने जीवित रहते अपनी भूमि तीन पुत्र वधुओं दशरथ की पत्नी आशा देवी, राकेश की पत्नी अनीता व विजेंद्र की पत्नी अमृता देवी के नाम रजिस्टर्ड वसीयत कर दिया था। इसके दो वर्ष बाद उनका देहांत हो गया। तीनों बहुओं ने वसीयत के अनुसार भूमि संंबंधी दस्तावेजों पर अपना नाम दर्ज करने को वाद दाखिल किया।
दूसरी तरफ हरी लाल के पुत्र दिनेश व रमेश ने तहसील में वरासत दर्ज करने के लिए वाद दायर कर दिया। राजस्व निरीक्षक वंशराज, लेखपाल रामेश्वर यादव, इंद्रेश यादव ने भूमि का वरासत हरी लाल की पत्नी व पांचों पुत्रों के नाम कर दिया। इसके पश्चात आशा देवी, अनीता व अमृता ने वसीयत के अनुसार अपना नाम दर्ज कराने के लिए न्यायालय की शरण ली।
न्यायालय ने प्रथम दृष्टया धोखाधड़ी का मामला पाए जाने पर आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर विवेचना करने का आदेश दिया। आदेश के अनुपालन के क्रम में पुलिस ने राजस्व निरीक्षक वंशराज, दोनों लेखपाल रामेश्वर यादव व इंद्रेश यादव, दिनेश व रमेश के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी, कूटरचना, साजिश रचने, गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर छानबीन कर रही है।

Leave a Reply