गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

जेनेसिस एआई हियरिंग एड लॉन्च

नई दिल्ली : हियरिंग एड बनाने वाली विश्व की अग्रणी कंपनी स्टार्की ने सोमवार को अत्याधुनिक उपकरण जेनेसिस एआई हियरिंग एड भारतीय बाजार में पेश किया। भारत में जेनेसिस एआई को लॉन्च करते हुये स्टार्की के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ब्रैंडन सावालिच ने कहा, “ हम भारत में मरीजों और हियरिंग केयर विशेषज्ञों के लिये जेनेसिस एआई को पेश करने के लिए उत्साहित हैं।

जेनेसिस एआई के साथ, हमने कान की मशीन की क्षमता को उम्मीदों से कहीं अधिक बढ़ाया है। यह हियरिंग तकनीकी के क्षेत्र में अब तक की सबसे बड़ी उन्नति है, जिसने कान की मशीनों को सिंगल-फंक्शन लिसनिंग इन्हेसमेंट डिवाइस से विचारशील, मल्टीपर्पस हेल्थ और कम्युनिकेशन टूल में बदल दिया है। नयी तकनीक पहले से ही अमेरिका, कनाडा, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में सुनने की समस्या से पीड़ितों का जीवन बदल रही है और अब, हम भारत में इसके लॉन्च को लेकर बहुत उत्साहित हैं। ”
स्टार्की के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी एवं ईवीपी (इंजीनियरिंग) डॉ. अचिन भौमिक ने इस मौके कहा, “ जेनेसिस एआई वर्षों के अनुसंधान एवं नवाचार का परिणाम है, जो सुनने की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों के जीवन को बेहतर बनाने की हमारी प्रतिबद्धता से प्रेरित है।”
डॉ. भौमिक ने कहा , “जेनेसिस एआई में उन्नत स्टार्की न्यूरो प्रोसेसर है, जो छह गुना ट्रांजिस्टर और पिछली जनरेशन की मशीनों की तुलना में चार गुना अधिक स्पीड होने का दावा करता है। यह अत्याधुनिक प्रोसेसर बेहतरीन साउंड प्रोसेसिंग और स्पष्टता प्रदान करता है।”
उन्होंने कहा कि स्टार्की ने हियरिंग एड के क्षेत्र में अत्याधुनिक समाधान पेश करके इनोवेशन की अपनी विरासत को जारी रखा है। जेनेसिस एआई की प्रमुख विशेषताओं में एक उन्नत स्टार्की न्यूरो साउंड प्रोसेसर, एक लंबे समय तक चलने वाली रिचार्जेबल बैटरी, इंटीग्रेटेड स्वास्थ्य ट्रैकिंग सेंसर, एज मोड प्लस के साथ उन्नत साउंड प्रोसेसिंग, एर्गोनोमिक डिज़ाइन और आरामदायक फिट शामिल हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत में लगभग छह करोड़ 30 लाख लोग सुनने की समस्या से पीड़ित हैं।

Leave a Reply