गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

गाजा संघर्ष में 25 हजार नागरिकों के मारे जाने की सूचना

संयुक्त राष्ट्र : गाजा में इजरायली हमले और इजरायल पर फिलिस्तीनी रॉकेट हमले सोमवार को भी जारी रहे। इस बीच संयुक्त राष्ट्र की मानवीय रिपोर्ट में सात अक्टूबर को युद्ध की शुरुआत के बाद से एन्क्लेव में 25 हजार से अधिक लोगों की मौत होने की बात कही गई है। गाजा के स्वास्थ्य अधिकारियों से मिली जानकारी का हवाला देते हुए संयुक्त राष्ट्र के मानवीय मामलों के समन्वय के कार्यालय (ओसीएचए) ने बताया कि इजरायली हमलों के कारण 62,681 फिलिस्तीनियों को चोटें आई हैं।
ये हमले इज़रायल में हमास के नेतृत्व वाले हमलों के जवाब में है। इन हमलों में लगभग 1,200 लोग मारे गए थे और लगभग 250 बंधक बना लिये गए थे। ओसीएचए ने कहा कि शुक्रवार से गाजा में दो इजरायली सैनिक मारे गए हैं, जिससे जमीनी अभियान शुरू होने के बाद से कुल संख्या 193 हो गई है, और इजरायली सेना के अनुसार 1,203 सैनिक घायल हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र सहायता समन्वय कार्यालय ने कहा कि इसी अवधि में 343 फिलिस्तीनी मारे गए और अन्य 573 लोग घायल हुए।
रविवार को युगांडा की राजधानी कंपाला में 77 देशों के समूह और चीन (जी77) के एक शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने मध्य पूर्व को “एक टिंडरबॉक्स” के रूप में वर्णित किया, और “रोकने के लिए हम जो कुछ भी कर सकते हैं वह करने” की अपील की
गुटेरेस ने पहले इजरायलियों और फिलिस्तीनियों के लिए दो-राज्य समाधान के लिए अपना समर्थन दोहराते हुए कहा, “इजरायल के सैन्य अभियानों ने बड़े पैमाने पर विनाश फैलाया है और महासचिव के रूप में मेरे कार्यकाल के दौरान अभूतपूर्व पैमाने पर नागरिकों को मार डाला है।”

Leave a Reply