गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

महिलाओं का शिक्षित होना बेहद जरूरी : डीसी

  • पुरुषों जैसे अवसर मिलने पर महिलाएं बढ़ सकती हैं आगे
  • डीसी ने ‘मेरी प्यारी लाडो अभियान’ की टॉप एंट्रीज को किया सम्मानित
  • महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा रंगोली, मेंहदी, रेसिपी प्रतियोगिता आयोजित

कपिल शर्मा | गौरवशाली भारत

नांगल चौधरी। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर इस साल की थीम और अभियान का विषय इंस्पायर इंक्लूजन है। जब हम दूसरों को महिलाओं के समावेशन को समझने और महत्व देने के लिए प्रेरित करते हैं, तो हम एक बेहतर दुनिया का निर्माण करते हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर देश की आधी आबादी मातृत्व शक्ति से युक्त महिलाओं के लिए 8 मार्च का दिन गर्व का आभास कराने वाला दिन है। इस दिवस शिवरात्रि के पर्व के साथ महिलाएं इसे त्यौंहार स्वरूप सेलिब्रिट किया। इस साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के सम्मान, सुरक्षा, सतर्कता और दायित्वों को लेकर गौरवशाली भारत के माध्यम से भारत की बेटियों को संदेश देते हुए हरियाणा जिला महेंद्रगढ़ उपायुक्त मोनिका गुप्ता ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं को बधाई संदेश दिया।

आईएएस मोनिका गुप्ता ने गौरवशाली भारत के माध्यम से अपने संदेश कहा कि, मेरी तरफ़ से मेरे ज़िले की सभी महिलाओं को और उन पुरुषों को जो महिलाओं को आगे बढ़ने में साथ देते हैं। उन सभी को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। मैंने ये हमेशा माना है कि, अगर हमारी महिलाओं को शिक्षित कर दिया जाए और उन्हें उसी तरीके से अवसर प्रदान किया जाए। जिस तरीके से पुरुषों को किए जाते हैं। तो महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर और बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं। महिलाओं को सिर्फ पुरुषों जैसे अवसर और मौक़े की आवश्यकता है। महिलाओं को मैं कहना चाहती हूं कि, वह आत्मविश्वास रखें। जैसे आसंमा की कोई सीमा नहीं, तो महिलाएं भी आसमान की अनगिनत ऊंचाईयों को छू सकती हैं। महिलाएं आत्मविश्वास से अपनी चाहत की वह हर कामयाबी को हासिल कर सकती हैं।

जब हम बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करते हैं तो उसमें दो चीजें हैं। पहली बात बेटियों के साथ भेदभाव या भ्रूण हत्या समाज में फैल रही हैं। इसको रोकना हर महिला और पुरुष का दायित्व है। गर्भ में लिंग जांच और भ्रूण हत्या करना ये बिल्कुल एक पाप है। इसके विरुद्ध जिला प्रशासन भी सख्त से सख्त कार्रवाई करता है। इसको हमें रोकना है। जब बात आती है पढ़ाने की तो जैसे मैंने बताया बेटियों को शिक्षित करना बहुत जरूरी है। जब आप एक महिला को शिक्षित करते हो तो आप एक पूरी तीन पीढ़ियों को शिक्षित कर देते हैं। इसलिए हर किसी का कर्तव्य है कि वह अपनी बेटी को पढ़ाए और उसके सपने साकार करने में मदद करे।

बता दें कि, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर जिला सभागार लघु सचिवालय में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस अवसर पर सभागार भवन नारनौल में महिला एवं बाल विकास विभाग एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि स्वरूप डीसी मोनिका गुप्ता और विशिष्ट अतिथियों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. रमेश चंद, सीएमजीजीए दिवाकर कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी संगीता यादव, डीआईओ हरीश शर्मा, जिला युवा अधिकारी नित्यानंद यादव, डा. एसपी सिंह एवं अन्य गणमान्य स्वजन कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम में मंच संचालन पकंज गौड़ ने किया। इस अवसर पर म्हारी लाडो म्हारी शान कार्यक्रम के तहत पिछले लगभग एक माह से चलाए गए मेरी प्यारी लाडो अभियान की 20 टॉप एंट्रीज को डीसी मोनिका गुप्ता ने सम्मानित किया। साथ ही 5 एनजीओ को भी सम्मानित किया। सभागार में इस अभियान के अंतर्गत जागरूकता के लिए एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री प्रदर्शित की गई। रंगोली, पोषण, मटका और मेंहदी, रेसिपी प्रतियोगिता की विजेताओं को भी सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में जिला महेन्द्रगढ़ की सैकड़ों महिलाओं ने उत्साह के साथ भाग लिया।

जिला उपायुक्त मोनिका गुप्ता ने कहा कि जिले में लिंगानुपात सुधार के लिए प्रशासन की ओर से अहम कदम उठाए जा रहे हैं। इस कार्य में सरकार के साथ-साथ समाज को साथ लेकर म्हारी लाडो म्हारी शान जैसे कार्यक्रम भी आयोजित करवाए जा रहे हैं, ताकि बेटियों के प्रति समाज की सोच में बदलाव आए। उन्होंने कहा कि, महिलाओं को अगर पुरूषों के बराबर मौका दिया जाए तो बेटियां बहुत आगे निकल सकती हैं। उन्होंने जिले की कई बेटियों का उदाहरण देते हुए कहा कि जिला की बेटियों ने हर क्षेत्र में उच्च मुकाम हासिल किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि भ्रूण हत्या जैसे पाप मिटाने के लिए प्रशासन आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा वर्कर व सामाजिक संगठन साथ मिलकर कार्य कर रहा है। लगातार जागरूकता के माध्यम से इस भेदभाव को मिटाने में कामयाब होंगे। सभागार में इस दिवस विभिन्न स्वयं सहायता समूह द्वारा प्रोडेक्ट स्टाल लगाई गई और विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित हुए। स्वास्थ्य विभाग की ओर से स्वास्थ्य जांच शिविर भी लगाया गया।

Leave a Reply