गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

खड़गे ने मोदी से मांगा मिलने का समय

नई दिल्ली : मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस के घोषणा पत्र को लेकर बार-बार गलत बयान दे रहे हैं इसलिए पार्टी का घोषणा पत्र समझाने के लिए उन्होंने श्री मोदी को पत्र लिखकर मिलने का समय मांगा है। खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री से मिलकर वह कांग्रेस के घोषणा पत्र के बिन्दुओं को लेकर उनसे वस्तुस्थिति स्पष्ट कर सुनिश्चित करना चाहते हैं कि अगली बार देश के प्रधानमंत्री कोई गलत बयान न दें।
खड़गे ने कहा कि श्री मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पर ‘संपत्ति छीन बांटने’ और ‘विरासत कर’ संबंधी आरोप लगाए हैं और इसी को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री को यह पत्र लिखा है।
उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र में लिखा “ कांग्रेस न्याय पत्र का लक्ष्य युवाओं, महिलाओं, किसानों, मजदूरों और सभी जाति एवं समुदायों के हाशिए पर रहने वाले लोगों को न्याय प्रदान करना है। आपके सलाहकार उन चीजों के बारे में आपको गलत जानकारी दे रहे हैं जो हमारे घोषणा पत्र में लिखी ही नहीं हैं। मुझे व्यक्तिगत रूप से मिलकर आपको हमारे न्याय पत्र को समझाने में बेहद खुशी होगी ताकि देश के प्रधानमंत्री के रूप में आप कोई भी गलत बयान न दें।”
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हाल में कुछ चुनावी सभाओं में कई बार कहा कि कांग्रेस लोगों की संपत्तियों को छीनकर ‘समुदाय विशेष’ के लोगों में बांटना चाहती है। पार्टी नेता सैम पित्रोदा के ‘विरासत कर’ संबंधी बयान को लेकर श्री मोदी ने दावा किया है कि कांग्रेस लोगों की पुश्तैनी संपत्ति को भी हड़पना चाहती है।
उन्होंने लिखा “ पिछले कुछ दिनों में आपकी भाषा और भाषणों से मैं बिल्कुल भी हैरान नहीं हूं। पहले चरण के चुनाव में बीजेपी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद आपसे और आपकी पार्टी के नेताओं से इस तरह की बातें करने की उम्मीद भी थी। हमारा घोषणा पत्र भारत के सभी लोगों के लिए है, इससे कुछ फर्क नहीं पड़ता है कि वह हिंदू, सिख ,इसाई या मुसलमान है। मुझे लगता है आप अब भी अपनी स्वतंत्रता से पहले की सहयोगियों मुस्लिम लीग और औपनिवेशिक मास्टर्स को भूले नहीं है।”

Leave a Reply