गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

14 बहुउद्देशीय नौकाओं के लिए एक हजार करोड़ का करार

नई दिल्ली : रक्षा मंत्रालय ने भारतीय तट रक्षक के लिए तेज गति से चलने वाली 14 बहुउद्देशीय गश्ती नौकाओं की खरीद के लिए मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) मुंबई के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। रक्षा मंत्रालय के अनुसार इस खरीद पर 1070.47 करोड़ रुपये की लागत आयेगी। इन नौकाओं को एमडीएल द्वारा भारतीय-आईडीडीएम श्रेणी के तहत स्वदेशी रूप से डिजाइन, विकसित और निर्मित किया जाएगा और ये कुल 63 महीनों में ये भारतीय तटरक्षक को सौंपी जायेंगी।
कई उच्च तकनीकी उन्नत सुविधाओं और उपकरणों के साथ ये नौका बहुउद्देशीय ड्रोन, वायरलेस रूप से नियंत्रित रिमोट वॉटर रेस्क्यू क्राफ्ट और अन्य क्षमताओं से लैस होंगी। इससे तटरक्षक को नए युग की बहुआयामी चुनौतियों का सामना करने के लिए अधिक लचीलापन और संचालन बढ़त मिल सकेगी। ये आधुनिक नौका मत्स्य पालन सुरक्षा और निगरानी, ​​​​नियंत्रण और निगरानी, ​​​​तस्करी विरोधी अभियान, उथले पानी सहित खोज और बचाव अभियान, संकट में जहाज को सहायता, समुद्री प्रदूषण के दौरान सहायता और निगरानी को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगी।
‘आत्मनिर्भर भारत’ की नीति के अनुरूप यह अनुबंध देश की स्वदेशी जहाज निर्माण क्षमता , समुद्री आर्थिक गतिविधियों और सहायक उद्योगों, विशेष रूप से लघु इकाईयों के विकास को बढ़ावा देगा। यह परियोजना प्रभावी ढंग से देश में रोजगार के अवसर और विशेषज्ञता विकसित करेगी।

Leave a Reply