गौरवशाली भारत

देश की उम्मीद ‎‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎ ‎‎

आकांक्षात्मक से आगे बढ़कर विकसित जिला बन रहा सिद्धार्थनगर

सिद्धार्थनगर : योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि डबल इंजन की सरकार के लगातार प्रयासों से सिद्धार्थनगर जिले के पिछड़ेपन का दंश मिट गया है। अब तक आकांक्षात्मक जनपद की श्रेणी में आने वाला यह जिला अब विकसित जनपद के रूप में तेजी से आगे बढ़ रहा है।
जिला मुख्यालय पर जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने माधव प्रसाद त्रिपाठी राजकीय मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज के शिलान्यास सहित 1885 करोड़ रुपये की 551 विकास परियोजनाओं का उपहार दिया।
जिले के पिछड़ेपन का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जिला दशकों से इसीलिए पिछड़ा रहा, क्योंकि न यहां जीवन जीने के लिए बुनियादी सुविधाएं थीं, न ही रोजगार के अवसर। माफिया गरीबों का हक मार जाता था और सरकारी योजनाओं का लाभ जनता को मिलता ही नहीं था। अपने निजी अनुभव साझा करते हुए उन्होंने इंसेफेलाइटिस से मासूम बच्चों की मौत की चर्चा भी की और कहा कि पिछली सरकारों ने कभी इन विषयों पर ध्यान नहीं दिया। जबकि आज डबल इंजन की सरकार ने माफिया और मच्छर दोनों को ही समाप्त कर दिया है। सिद्धार्थनगर में शिक्षा और स्वास्थ्य की अच्छी सुविधा सुलभ हुई है। गरीबों को आवास मिल रहा है, 05 लाख तक का निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा मिला है, 05 वर्ष तक मुफ्त राशन की व्यवस्था हुई है।
सरकार की लोककल्याणकारी योजनाओं की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों को दिया। जनसभा के बीच उन्होंने जनता से पूछा कि मुफ्त राशन, आवास, और स्वास्थ्य बीमा कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकारें दे सकती थीं, क्या राममंदिर निर्माण पिछली सरकारों के दौर में संभव था, जनता की ओर से एक स्वर में “नहीं” की आवाज आई। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में भारत 11वें नंबर पर था लेकिन प्रधानमंत्री जी के प्रयासों से आज भारत दुनिया का 05वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और अब मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में हमारा देश विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी ने स्थानीय सांसद जगदम्बिका पाल की कर्मठता को भी सराहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार के समय जब जगदम्बिका पाल कांग्रेस के सांसद थे, तब भी संसद में मेरे स्वर में स्वर मिलाते हुए इंसेफेलाइटिस के खिलाफ लड़ाई लड़ते थे। आज भी यह सिद्धार्थनगर के लिए जितनी मेहनत करते हैं, वह 40 साल के किसी युवा जैसा है। ऐसा ऊर्जावान सांसद चुनने के लिए यहां की जनता बधाई की पात्र है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिद्धार्थनगर के विकास के लिए जगदम्बिका पाल का सांसद होना बहुत जरूरी है

Leave a Reply